मोबाइल में ब्लॉग्गिंग

लिजीये मैं अपने पहले लेख को लेकर आ गया
आज से पहले आप सोचते थे की सिर्फ़ कंप्यूटर के द्वारा ही ब्लॉग्गिंग की जा सकती है । बहुत लोगो के पास कंप्यूटर में खुलने वाले ब्लॉगर या ब्लॉग है लेकिन क्या आप जानते है की मोबाइल ब्लॉग्गिंग भी प्रारम्भ हो गई है । बड़ते संचार क्रांति मैं सभी के पास समय नही होता है फिर भी चाहते है की ख़ुद का अपना एक ब्लॉग हो तो चले मोबाइल ब्लॉग्गिंग की दुनिया मैं इसमे पहला नाम आता है www.peperonity.com का जो ऑनलाइन मोबाइल ब्लॉग्गिंग साईट है और मुफ्त भी है बस आपको करना सिर्फ़ इतना है की अपने मोबाइल पर इन्टरनेट कनेक्शन लेना है और www.operamini.com के वेबसाइट पर जा कर operamini download करना है अरे भाई ये क्यों पूछोगे नही ? इसलिए के ये बहुत सरलता से मोबाइल ब्लॉग्गिंग करने के सुविधा प्रदान करता है फिर www.peronity.com पर जा कर लोगओन करे और आपका मोबाइल ब्लॉग चालू हो जाए गा । मैंने तो बना लिया है देखना चाहते है तो मोबाइल पर या कंप्यूटर पर ही सही www.cksahu.peperonity.com par लोगिन करे पड़ लिया बस एक comments पोस्ट करना नही भूलिएगा ।

Comments

क्या हाल हैं जी


हिन्दी ब्लॉग्स के नये साथियों मे आपका बहुत स्वागत है
पहले तो एक सशक्त रचना के लिए आपको बहुत बधाई और फिर
चलिए अपने व ब्लॉग के परिचय के लिए कुछ पंक्तियाँ रख रहा हूँ देखिएगा

मुक्तक .......

हमारी कोशिशें हैं इस, अंधेरे को मिटाने की
हमारी कोशिशें हैं इस, धरा को जगमगाने की
हमारी आँख ने काफी, बड़ा सा ख्वाब देखा है
हमारी कोशिशें हैं इक, नया सूरज उगाने की .

और

कविता



मैं जो हूँ
मुझे वही रहना चाहिए

यानि
वन का वृक्ष
खेत की मेढ़
नदी की लहर
दूर का गीत , व्यतीत
वर्तमान में उपस्थित

भविष्य में
मैं जो हूँ
मुझे वही रहना चाहिये

तेज गर्मी
मूसलाधार वर्षा
कडाके की सर्दी
खून की लाली
दूब का हरापन
फूल की जर्दी

मैं जो हूँ ,
मुझे वही रहना चाहिये
मुझे अपना होना
ठीक ठीक सहना चाहिए

तपना चाहिए
अगर लोहा हूँ
तो हल बनने के लिए
बीज हूँ
तो गड़ना चाहिए
फूल बनने के लिए

मगर मैं
कबसे
ऐसा नहीं कर रहा हूँ
जो हूँ वही होने से डर रहा हूँ ..



आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा मे
डॉ.उदय 'मणि'
हिन्दी की उत्कृष्ट कविताओं व ग़ज़लों के लिए देखें
http://mainsamayhun.blogspot.com
शोभा said…
अच्छी और उपयोगी जानकारी दी है आपने । स्वागत है आपका।
नए चिठ्ठे के लिए बधाई हो !
आशा रखता हूँ कि आप भविष्य में भी इसी प्रकार लिखते रहे |
आपका
विजयराज चौहान (गजब)
http://hindibharat.wordpress.com/
http://e-hindibharat.blogspot.com/
http://groups.google.co.in/group/hindi-bharat?hl=en
नए चिट्टे की बधाई, लिखते रहें, और हिन्दी ब्लॉग्गिंग को समृद्ध करते रहें...
शुभकामनायें

आपका मित्र
सजीव सारथी